• Home
  • /
  • Blog
  • /
  • कोडिंग के बारे में 5 शानदार तथ्य!

कोडिंग के बारे में 5 शानदार तथ्य!

दिसम्बर 9, 2020

5-Cool-Facts-About-Coding

This post is also available in: English (English) العربية (Arabic)

आजकल सभी लोग कोडिंग के बारे में बात करते हैं और इसके बारे में बहुत कुछ जानते भी हैं। माता-पिता और शिक्षक सभी अब इस बात से अवगत हैं कि छात्रों के लिए कोडिंग सीखना कितना महत्वपूर्ण है। वे बच्चों के कार्यक्रमों के लिए कोडिंग के माध्यम से मूल बातें सीखना शुरू कर सकते हैं। इस लेख में मैं कोडिंग के बारे में पाँच अच्छे तथ्य ला रहा हूँ।

कोडिंग के बारे में तथ्य

1. एक आदमी को अंतरिक्ष में भेजने के लिए स्मार्टफोन चलाने की तुलना में कम कोड का इस्तेमाल हुआ था!

जब नासा का पुन: प्रयोज्य स्पेस शटल पहली बार 70 के दशक में अंतरिक्ष में गया, तो हमारी जेब में मौजूद फोन की तुलना में इसके संचालन का कोड कम था! आश्चर्यजनक रूप से, नासा अभी भी 70 के दशक से अपने अंतरिक्ष यान में उसी कंप्यूटर प्रोग्राम का उपयोग करता है। नासा के लिए नए कोड लिखना और नए कंप्यूटर प्रोग्राम डिजाइन करना बेहद महंगा होगा। इसके अतिरिक्त, एक नए कंप्यूटर प्रोग्राम को डिजाइन करने के लिए बहुत परीक्षण की आवश्यकता होती है और यह विफलता और जोखिमों से भरा हो सकता है। नासा जिस पुरानी तकनीक का इस्तेमाल कर रहा है, वह आज भी काम कर रही है, इसलिए इसे बदलने की कोई जरूरत महसूस नहीं हुई।

कोडिंग के बारे में तथ्य
नासा का पहला पुन: प्रयोज्य अंतरिक्ष यान

2. “सी” प्रोग्रामिंग भाषा की पूर्ववर्ती भाषा “बी” थी!

प्रोग्रामिंग भाषा “सी” कंप्यूटर विज्ञान के इतिहास में सबसे लोकप्रिय भाषाओं में से एक है। वास्तव में, बहुत सी आधुनिक प्रोग्रामिंग भाषाएं मुख्य रूप से “सी” पर आधारित हैं, जैसे सी ++, सी #, पर्ल और जावा। हालांकि, बेल प्रयोगशालाओं (Bell Laboratories) में काम करने वाले केन थॉम्पसन द्वारा 1969 में “बी” नामक एक पूर्ववर्ती भाषा बनाई और लिखी गई थी। “बी” “बेल” का संक्षिप्त नाम है। बाद में डेनिस रिची द्वारा “सी” बनाने के लिए “बी” में सुधार किया गया था।

3. कंप्यूटर भाषाओं में विविधता है

आजकल, 700 से अधिक विभिन्न कंप्यूटर भाषाएँ हैं। सभी विशेषज्ञ बच्चों के लिए एक दृश्य संपादक (विज़ुअल एडिटर) और एक ब्लॉक-आधारित प्रोग्रामिंग भाषा के साथ शुरू करने की सलाह देते हैं ताकि वे एक सहज और आसान तरीके से सीख सकें।

4. द्वितीय विश्व युद्ध को समाप्त करने में कंप्यूटर प्रोग्रामिंग ने महत्वपूर्ण भूमिका निभाई!

एक अंग्रेजी गणितज्ञ, एलन ट्यूरिंग, आधुनिक कंप्यूटर विज्ञान के पितामह के रूप में प्रसिद्ध हैं। उन्होंने अपने आविष्कारों के साथ संगणना (कम्प्युटशंस) और एल्गोरिदम की अवधारणाओं की स्थापना की। हालाँकि, जो बहुत से लोग नहीं जानते होंगे वह यह है कि ट्यूरिंग ने द्वितीय विश्व युद्ध को समाप्त करने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई थी। नाज़ियों ने ENIGMA नामक एक एन्क्रिप्टेड मशीन का इस्तेमाल किया जिसको इन्टरप्रेट करना मुश्किल था। हालांकि, एलन ने मशीन का उपयोग करने के लिए क्रिप्टोग्राफ़िक और अल्गोरिथ्मिक कौशल का उपयोग किया था। इसने मित्र राष्ट्रों को युद्ध जीतने में मदद की और अनगिनत लोगों की जान बचाई। वास्तव में, एसोसिएशन फॉर कम्प्यूटिंग मशीनरी (ACM) ने उनके नाम पर अपने एक पुरस्कार की शुरुआत की। ट्यूरिंग पुरस्कार किसी व्यक्ति को कंप्यूटर प्रोग्रामिंग की दुनिया में उसके योगदान की मान्यता के रूप में दिया जाता है।

5. सांप या अज़गर के नाम पर पाइथन का नाम नहीं रखा गया था

जिस समय गुइडो वान रोसुम ने पायथन को लागू करना शुरू किया, वह मोंटी पायथन के फ्लाइंग सर्कस (सत्तर के दशक से एक बीबीसी कॉमेडी श्रृंखला) से प्रकाशित स्क्रिप्ट भी पढ़ रहे थे। उन्होंने यह आभास किया कि उन्हें एक ऐसे नाम की आवश्यकता है जो संक्षिप्त, अद्वितीय और थोड़ा रहस्यमय हो, इसलिए उन्होंने अपनी इस नहीं प्रोग्रामिंग भाषा नाम पायथन रखने का फैसला किया।

कोडिंग के बारे में तथ्य
{"email":"Email address invalid","url":"Website address invalid","required":"Required field missing"}
>